Get Inspired By Successful Startups

Successful Startups

Take Inspiration from some of the most successful Startups. Understand the key factors contributing to their success.

Name of the Company About the Company - कंपनी के बारे में What Made it So Successful? कंपनी की सफलता का कारण How did it Start? शुरुवात Website Link - लिंक Media Coverage
VLCC - Luthra Curls and Curves

VLCC is one of the largest and most-preferred brands in the Wellness domain offering slimming, beauty and fitness services. It has presence of 300 locations across 109 cities in 9 countries namely India, UAE, Oman, Bahrain, Qatar, Kuwait, Sri Lanka, Bangladesh and Nepal. VLCC serves as an umbrella brand for all its affiliated businesses which include VLCC Personal Care, VLCC Day Spa, VLCC Institute of Beauty & Nutrition and VLCC Nutri- Diet Clinic.

VLCC is widely recognized for its scientific weight loss solutions and its therapeutic approach to beauty treatments. Its staff comprises of medical doctors, nutritionists, psychologists, cosmetologists and physiotherapists who provide a holistic approach to wellness according to individual body compositions.

VLCC founder, Vandana Luthra after taking a series of specialized courses and modules in beauty care, fitness, food and nutrition and skin care in London, Munich and Paris started a neighbourhood beauty parlour which was an instant success. In 1989, Vandana Luthra opened India’s first Transformation Center in New Delhi, which seamlessly married dietary and lifestyle modification-based scientific slimming programs with cutting edge skin and hair treatments.

Just Dial

JustDial is a company providing local search services over multiple platforms such as phone, web, mobile and SMS. It also has mobile applications for the Android, Blackberry and iOS platforms and location based service for our mobile Internet users. Justdial caters to around 57 million users across 2000 towns and cities in India. The company has more than 4500 employees working for them in various branches.

Just Dial search service bridges the gap between users and businesses by helping users find relevant providers of products and services quickly while helping businesses listed in their database for free to market their offerings. It has 08888888888 as their operator assisted hotline number, across India, which is accessible 24 hours a day, 7 days a week with multi-lingual support. As of March 2012, Just Dial has a database of approximately 7.0 million listings thus providing comprehensive information.

Just Dial was started in 1996 with the number 8888 8888 and a capital of ₹ 50,000, borrowed furniture and rented computers. Prior to Just Dial, founder VSS Mani was part of trio who had started an ‘Ask Me’ service which was later defunct.

Jumbo King Vada Pav

Jumbo King is a fast food chain specializing in the Mumbai’s popular regional dish, the VADA PAV. Vada Pav was losing its reputation due to its availability only at street vendors with unhygienic practices. The company was inspired by the fast food business model of McDonald's and Burger King and aimed at cooking and selling the popular dish in hygienic conditions at an affordable price.

Jumbo King provided local street food Vada Pav prepared in a very hygienic condition and wrapped in food grade paper as burger. It gave the dish a distinct recognisable round shape which was different from the ones at street vendors. The firm expanded through its franchise network having more than 45 outlets reportedly selling an average of 40,000 Vada Pavs everyday.

 Founder Dheeraj Gupta wanted to work the fast food model in India and Vada Pav was the first idea as the food had to be portable. started Jumbo King in 2001 with an aim of providing one of Mumbai’s favourite foods in a hygienic way. He targeted increasingly health and hygiene conscious people wanting to know that they were receiving good quality food.

Calorie Care

Calorie Care is India's first and only calorie-counted meal delivery service providing a variety of freshly cooked calorie-counted meals to individuals across Mumbai. The company has a team of chefs and dieticians working together to ensure healthy, but tasty and varied meals packed in hygienic, contamination-proof packing with a clear account of the nutritional content printed with every single meal.

Calorie Care catered to an utter lack of convenient healthy eating options for working executives wanting to take care of their diets. Each meal is designed to provide balanced nutrition – a judicious mix of carbohydrates and proteins, a high fiber content, low fat content and minimal cholesterol content. The company provided easy access to such meals that were healthy, calorie-controlled, and varied. It changed the perception of healthy nutritious meals being bland, dull, diets, involving self-deprivation, or complicated fad diets.

Cyrus Driver, one of the founders of Calorie Care, while working in the finance industry found it hard to be shape due to the unhealthy and unhygienic eating options around and wished he had access to healthy nutritional meals. This idea was given shape by a team of professional chefs and qualified dieticians, led by the renowned dietician Lisa John, and spent a year in R&D developing and testing a large library of calorie-counted recipes. A proprietary software system was also created that allowed the team to create and track meal plans for each individual customer. Calorie care was launched in September 2005.

The Shahnaz Husain Group

The Shahnaz Husain Group is a leading natural cosmetics and beauty products manufacturing group. The group uses Ayurvedic care and cure and has activities such as beauty training institutes, herb plantations, retail products and stores and specialised treatments through a chain of over 400 franchise clinics, shops, schools, spas and beauty centres worldwide. The group also has Ayurvedic formulations for skin, hair, body and health care covering almost 138 countries.

The Shahnaz Husain Group has pioneered herbal care through practical application of Ayurvedic traditions in beauty treatments and cosmetics. The group is involved in growing its own herbs for manufacturing its cosmetics line which is retailed worldwide. Founder Shahnaz Husain is recipient of several national and international awards including India's highest honour, the Padma Shree, in the field of Industry and Trade for bringing Ayurveda to the West.

Founder Shahnaz Husain set up her herbal clinic in her own home, in a very small way, rejecting the then existing salon treatment methods and devised her own herbal treatments including formulating her own Ayurvedic products.

BharatMatrimony.com

BharatMatrimony.com, launched in 1997, is one of India’s leading Matrimonial Portal. The site has within its folds 15 regional linguistic portals and trusted by over 20 million members worldwide. The company has been recognized by Limca Book of Records for facilitating a record number of marriages, Best Matrimony Website 2007 by PC World for technology and performance and is also listed in the NASSCOM's Top 100 IT Innovators.

Using the power of internet to create a world of successful and enduring life partnerships through a robust technology-driven platform. Also provides peripheral/supporting services through several new business models such as PrivilegeMatrimony.com, EliteMatrimony.com, CommunityMatrimony.com, MatrimonyDirectory.com and MatrimonyGifts.com.Parent company Consim Info Pvt. Ltd has a significant presence in other verticals such as Real Estate - IndiaProperty.com, Classifieds - IndiaList.com and Gifts - MatrimonyGifts.com.

Murugavel Janakiraman, the founder, aimed at leveraging internet’s power, flexibility and reach in providing a life-changing experience.

इंडियाआइडियाज.कॉम लिमिटेड

बिलडेस्क इंडिया आइडियाज.कॉम लिमिटेड की स्थापना 2000 की शुरुआत में बिलों के भुगतान के समय हममें से अधिकतर को होनेवाली निराशा का समाधान करने के उद्देश्य से की गई। हमने बिल डेस्क को इसलिए बनाया है ताकि हम जैसे उपभोक्ता अपने भुगतान का बेहतर प्रबंधन करने के लिए इलेक्ट्रॉनिक माध्यम की संभावना का लाभ उठा सकें और बिल भुगतान सेवाओं में परंपरा से चली आ रही कमियों से छुटकारा पा सकें।

बिल डेस्क की स्थापना बिल भुगतान की प्रक्रिया को सरल बनाने के उद्देश्य से की गई थी। इसे एक ऐसी सुविधा के रूप में देखा गया जिसके माध्यम से उपभोक्ता अपने सभी भुगतान एक समय पर एक ही स्थान से कर सके-और बेहतर हो कि किसी भी समय किसी भी स्थान से कर सके। एक ऐसी सुविधा जो उपभोक्ताओं के बिलों का लेखा-जोखा रखे, उनको देय तिथियों की जानकारी दे, चेक काटने और लाइन में खड़ा रहने के झंझट से मुक्ति दे और हमें यह आजादी दे कि अपने बैंक को एक बार अनुदेश देने पर भुगतान हो जाए।

जैगुआर

बाथ फिटिंग्स में जैगुआर की बाजार हिस्सेदारी 60% से अधिक है। हर वर्ष यह 5 लाख नए ग्राहक जोड़ती है। इसकी मौजूदगी 5 महाद्वीपों में है।

जैगुआर की नींव गुणवत्ता के सर्वोच्च मानकों और सौन्दर्य-बोध पर रखी गई है। इसका इरादा विश्वस्तरीय उत्पाद देने का था। 1960 में श्री एन.एल. मेहरा ने इसे स्थापित किया। बाथ फिटिंग वर्ग में जैगुआर निर्विवाद रूप से बाजार का अगुआ है। जैगुआर ने इस उद्योग को महज उपयोगिता से निकालकर प्रेरणात्मकता की ओर उन्मुख कर दिया है। ग्रुप का लक्ष्य था- संपूर्ण स्नान समाधान- प्रदाता के रूप में विकसित होना। लेकिन जैगुआर ने विविधता लाते हुए स्नान से जुड़े कई और उत्पादों में हाथ आजमाए हैं, जैसे- सैनिटरीवेयर, शावर एन्क्लोजर, वॉटर हीटरस कन्सील्ड सिस्टर्न, उत्पादों की वेलनेस रेन्ज जैसे व्हर्लपूल, शॉवर पैनल, शॉवर, स्टीम केबिन और स्पा।

हाल ही में जैगुआर समूह ने सभी आवासीय, वाणिज्यिक और बाहरी उद्देश्यों के लिए कॉन्सेप्ट लाइटिंग समाधान की दिशा में कदम बढ़ाए हैं। एक-स्रोतीय समाधान के रूप में जैगुआर कॉन्सेप्ट लाइटिंग में उच्च गुणवत्ता वाले उत्पादों की व्यापक रेंज, डिजाइन कन्सल्टेन्सी, इन्स्टालेशन और परवर्ती देख-रेख का प्रावधान है।

बरसों से नवोन्मेषिता, समर्पणशीलता और उत्तम निष्पादन इस समूह के मूल सिद्धान्त रहे हैं। वैश्विक रूप से विख्यात सुपर ब्रान्ड के रूप में जैगुआर ने डिजाइन में लगातार आर एंड डी के ज़रिए दुनिया भर में अपनी पहचान बनाई है।

जैगुआर की स्थापना 1986 में स्वर्गीय एन एल मेहरा ने की। उन्होंने 1960 में एसको के ब्रान्ड नाम से बाथ-फिटिंग बनाने का काम शुरू किया था।

नल्ली

नल्ली 80 साल पुराना पारिवारिक व्यवसाय है। भारत के 10 प्रमुख नगरों में इसके स्टोर हैं। साथ ही, अमेरिका और सिंगापुर में इसके दफ्तर और दुकानें हैं। इतने वर्षों के बाद नल्ली अब रेशम का दूसरा नाम बन गया है।

नल्ली आज रेशम का पर्याय है। इसकी स्थापना 1928 में की गई और पिछले 80 वर्ष से अधिक समय से यह कपड़े और खुदरा व्यापार के मामले में अग्रणी बना हुआ है। नल्ली दक्षिण भारत में एक मिसाल है। यह रेशम या यों कहें कि कांचीपुरम साड़ियों का पर्याय है। नल्ली की सफलता किसी परी-कथा जैसी लगती है। 1928 में नल्ली चिन्नसामी चेट्टी नाम के एक युवक ने चेन्नै में एक छोटे-से खुदरा स्टोर के तौर पर इसकी नींव रखी। तीस वर्ष तक इस पारिवारिक दुकान ने लगातार कारोबार किया। इसके बाद नल्ली कुप्पुस्वामी चेट्टी ने इसकी बागडोर संभाली।

लीक से बिलकुल हटते हुए नल्ली कुप्पुसामी ने फैसला किया कि उनकी दुकान में कोई सामान डिस्काउन्ट पर नहीं बेचा जाएगा। 1950 के दिनों में ऐसा करना तो दूर सुनने में भी नहीं आता था। तब से अब तक यह कपड़ों के क्षेत्र में अग्रणी नाम है, पूरे उद्योग में परिवर्तन का अगुआ। जल्द ही नल्ली ने उचित मूल्य पर अप्रतिम गुणवत्ता देनेवाले की छवि बना ली। इसके वफादार ग्राहकों की सूची कई गुना लंबी होती चली गई। दक्षिण में उल्लेखनीय ईक्विटी रखनेवाले एक 80 वर्ष के ब्रान्ड रूप में नल्ली आज भी मनोनुकूल रेशमी कपड़ों और वैवाहिक साड़ियों के लिए लोकप्रिय गंतव्य है।

आज नल्ली के व्यवसाय का दायरा बढ़ गया है। अब यह केवल अग्रणी साड़ी-विक्रेता नहीं, बल्कि कपड़ों, परिधानों और घरेलू फर्निशिंग के अग्रणी विनिर्माता तथा निर्यातक भी हैं। नल्ली ने समय से साथ अपने को बदला है और साड़ी उद्योग में अगुआ बनकर उभरे हैं। उनके यहाँ परंपरागत रेशम से लेकर हल्के वज़न वाले कपड़े जैसे क्रेप और शिफॉन तथा डिजाइनर साड़ियाँ भी उपलब्ध हैं। उनके पास बहुत से प्राइवेट ब्रान्डों के महिलाओं के तरह-तरह के परिधान तथा पुरुषों से सिले-सिलाए कपड़ों का संग्रह- कॉस्ट्यूम ज्वेलरी और एक्सेसरीज, स्टोल्स, दुपट्टे तथा कुछ सॉफ्ट फर्निशिंग भी उपलब्ध हैं।

 

नल्ली की शुरुआत चेन्नै में 1928 में नल्ली चिन्नासामी चेट्टी ने एक छोटे से सिल्क स्टोर के रूप में की। हर आनेवाली पुश्त के साथ इस छोटे से व्यवसाय ने अच्छा लाभ कमाया, और धीरे-धीरे यह व्यवसाय उस स्तर तक पहुँच गया, जहाँ आज हम इसे देखते हैं।

सोनी

यह कंपनी उपभोक्ता इलेक्ट्रॉनिक्स बनाती और बेचती है। साथ ही, वित्तीय सेवाएं, बैंकिंग और विज्ञापन जैसी सेवाएं भी देती है। 2011 में इसका राजस्व 86.64 अरब डॉलर था। इसके कर्मचारियों की संख्या 168,000 है। 

सोनी की सफलता का मुख्य कारण है अत्युत्तम गुणवत्ता वाले नवोन्मेषी उत्पाद तथा कीमत। इसने वॉकमैन म्यूजिक प्लेटर और प्ले स्टेशन जैसे उत्पाद उतारे, जिन्होंने बाजार को पूरी तरह से बदल दिया। इन उत्पादों ने एक नया बाजार खोज निकाला, जहाँ पहले पहुँचा नहीं जा सका था। सोनी को छोटे आकार के उत्पाद बनाने का श्रेय भी जाता है, जिनको लोग साथ ले जा सकते हैं। इससे पहले यह माना जाता था कि इलेक्ट्रॉनिक सामान बड़ा और बेडौल होता है। सोनी को ऐसे उत्पाद बनाने के लिए भी जाना जाता है जो न केवल व्यवहारिक उद्देश्य को पूरा करते हैं बल्कि मनोरंजन भी करते हैं। इससे सोनी ने अपने लिए खास जगह बनाई।

1945 के आखिरी दिनों में दूसरे विश्व युद्ध के बाद मासरु इबुका ने टोकियो में रेडियो मरम्मत की दुकान खोली। 1946 में उसने आकियो मोरिटो के साथ मिलकर टोकियो सूशिन कोग्यो के.के. (टोकियो टेलीकम्युनिकेशन्स इंजीनियरिंग कॉर्पोरेशन) नामक कंपनी स्थापित की। इस कंपनी को जापान का पहला टेपरिकॉर्डर- टाइप-जी बनाने का श्रेय जाता है।

Pages