सही व्यवसाय का चयन

Choosing the Right Business

प्रतियोगिता का स्तरर

बड़ी संख्या वाले प्रतियोगियों के साथ बाजार का चयन आपके व्यावसाय के लिए हानिकारक हो सकता है । बड़ी संख्या  में प्रतियोगियों का मतलब है कि जहॉं मुनाफा पहले से ही कम हो, यह व्य वसाय के प्रारम्भह में ही आप के लिए सही साबित नहीं हो सकता । ज्या दातर मामलों में बड़े पैमाने पर मितव्यीयता वाली फर्में ही मूल्यय प्रतियोगिता का मुकाबला कर सकती है । आप एक छोटे बाजार या नए उभरते हुए बाजात में बेहतर सेवाएँ / परिणाम दे सकते हैं और तत्प श्चाबत अपना व्यावसाय आगे बढ़ा करते हैं ।

लाभप्रदत्ता

केवल लाभदायक व्यतवसाय ही जीवित रह सकता है । यदि आपको किसी गतिविधि में खास रुचि है और उस गतिविधि से संबंधित आपके पास कुछ योजनाऍं हैं, तो यह आवश्यधक हो जाता है कि उन योजनाओं की व्या वसायिक संभावनाओं का आकलन किया जाए । अपने विचारों को स्था यी व्ययवसाय में बदलने के लिए और उसकी जीवंतता बनाए रखने के लिए कुछ प्रश्नों  का उत्तर अपेक्षित हैं जैसेः- कि क्या  आपके उत्पावद और सेवाओं की पर्याप्त  मांग है? क्याह आप एक आवर्ती आय अर्जित करेंगे ? और क्या  बड़े पैमाने की किफायतें मौजूद हैं? क्या  आपके विचारों को निरंतर व्यरवसाय में बदलने की सक्षमता है?

क्याम यह आपके लक्ष्योंआ और संसाधनों के अनुरूप हैं

आपने किस प्रकार का व्य वसाय आरम्भू करने का निर्णय किया है, यह दो बातों पर निर्भर करता है : आपका उद्देश्यव और आपके संसाधन । यह एक निर्णायक कारक है कि आप अपने व्यआवसाय से क्यार हासिल करना चाहते हैं । यदि आप वित्तीैय स्व तंत्रता चाहते हैं, तो यह सलाह है कि आप एक ऐसा व्यदवसाय (एक गहन विश्लेरषण के उपरान्तक ) चुनें, जिसमें लाभप्रदता की संभावना ज्यायदा हो । लेकिन कुछ लोग ऐसा व्यणवसाय आरम्भय करना चाहते हैं जिसमें लोगों की सहायता की जा सके । इसके लिए आपको ऐसी योजनाओं की आवश्य कता होगी, जिनमें लोगों के जीवन पर प्रभाव डालने की क्षमता हो।

आपके पास जो अपने वित्तीय संसाधन है, उनका भी विशेष महत्व  है । कुछ व्येवसायों को आरम्भ, करने के लिए (जैसे विनिमार्ण) काफी मात्रा में पूंजी की आवश्यपकता होती है। इन बाजारों में प्रवेश करने की योग्य ता का निर्धारण आपके अधिकार में उपलब्धह राशि करेगी । इंटरनेट आधारित व्य वसाय शुरू करने के लिए कभी – कभी ये व्यगवसाय कम लागत की रणनीति भी प्रदान कर सकते हैं ।

आपकी कौशल क्षमता और योग्य ता

सही व्यशवसाय के चयन में उपर्युक्त  तीन ठोस कारकों से प्रभावित होगा । अपने कौशल को ध्यावन में रखते हुए ऐसे व्यठवसाय का चयन करें, जिसमें आपके कौशल का उपयोग हो सके । उदाहरण के लिए गूगल के दोनों संस्थाौपक कम्यूसक  टर विज्ञान में पीएचडी अर्थात अनुभव मायने रखता है । वाल मार्ट के संस्था्पक ने अपने स्वययं का खुदरा स्टोचर शुरू करने से पहले खुदरा स्टोकर में काम किया । कहने का अभिप्राय यह है कि यदि आपके पास किसी विशेष व्यंवसाय के केन्द्रीकय कार्य करने के लिए  उपयुक्तल हैं । आप कार्यों को बेहतर तरीके से समझने, बेहतर प्रबंधकीय निर्णय लेने में सक्षम हो जाऍंगे ।

आप किसमें बेहतर परिणाम दे सकते हैं

यह एक महत्वेपूर्ण बिन्दुं है, जिसे आपको ध्यािन में रखना है 1 यदि आप किसी कार्य के प्रति संजीदा है या किसी कार्य को करने में आपको खुशी होती है तो निश्चित रुप से उस व्यहवसाय को करने से आपको सफलता मिलेगी । लेकिन सफलता के लिए यही एक कारण पर्याप्ता नहीं हैं । यह भी महत्विपूर्ण है कि आपके अन्यल पर्याय भी खोजने होंगे और एक निर्णय लेना होगा । इसके मूल्यां कन का एक तरीका यह होगा कि आप इस परियोजना पर प्रति सप्तामह 40 घण्टेह खर्च करने के लिए तैयार होंगे । उन व्य वसाय संभावनाओं को चिह्नित करने की कोशिश करें, जिनके प्रति आप संजीदा हे । शुरूआती तौर पर सफलता प्राप्तो काने के कई उदाहरण मौजूद है ।  स्टीौव जॉबस और स्टीपव बॉजनिऑक दोनों ही कम्यूकई  टरों के लिए बेहद संजीदा थे । उन्होंमने एक गराज में कम्पिनी की स्थाईपना की । इस का परिणाम था एपल आइएनसी , दुनियॉं में कई कम्पपनियॉं अपना नाम नहीं कमा पाती, इस उदा‍हरण से तात्पॉर्य है कि आप वहीं कार्य करें, जिसमें आप को खुशी और संतोष प्राप्त  हो।                                                                              

 

   smallB.in - Promoting Youth Entrepreneurship

Promoting Youth Entrepreneurship

        a SIDBI initiative

  SIDBI Logo

 

  Startup Mitra

 

  Standup India

 

  Udaym Mitra

 

WCAG2-AA lcertificationValid XHTML + RDFa

 

Powered by Chic Infotech

संपर्क करें
साइटचित्र
अस्वीकरण
प्रतिलिप्याधिकार (सी) सिडबी। सभी सर्वाधिकार सुरक्षित।
एमएसएमई वित्तपोषण एवं विकास परियोजना के अंतर्गत, डीएफ़आईडी, यूके के तकनीकी सहायता घटक के अधीन सहायता-प्राप्त।