ऊर्जा दक्षता एवं लागत बचत

Energy Efficiency & Cost Savings

ऊर्जा के दक्षतापूर्ण उपयोग से घरों, व्यवसायों और विभिन्न प्रकार के परिवहनों में ऊर्जा दक्षता प्राप्त की जा सकती है। यह इस बात पर ज़ोर देता है कि जीवाश्म-ईँधन से उत्पन्न ऊर्जा के स्तर के बराबर ऊर्जा सेवा उपलब्ध कराने के लिए ऊर्जा स्रोतों का न्यूनतम उपयोग किया जाए। बिजली उत्पन्न करने के लिए प्रधानत: जीवाश्म ईंधन, जैसे - कोयला, कच्चा तेल और प्राकृतिक गैस का उपयोग होता है। इस बिजली का उपयोग आगे प्रकाश, तापन /शीतलन तथा औद्योगिक उत्पादन के लिए किया जाता है, जिससे ग्रीनहाउस गैसें, जैसे – कार्बन डाई-आक्साइड, मीथेन, आदि उत्सर्जन होती हैं। ग्रीनहाउस गैसों का सामान्य पर्यावरण और जीवन पर हानिकारक प्रभाव पड़ता है, जिसके कारण यह माना जाता है कि ऊर्जा दक्ष विधियाँ ग्रीनहाउस गैसों का उत्सर्जन कम करती हैं और उन्हें भारत सहित सभी देशों में अपनाया गया है। यह भी माना जाता है कि ऊर्जा दक्ष विधियाँ आवासीय, वाणिज्यिक और औद्योगिक संस्थाओं में विभिन्न सामानों और उपकरणों की उत्पादकता में सुधार लाती हैं। 

 

 EnergyManagerTraining.com का संदर्भ लें, जो भारत में ऊर्जा दक्षता संबंधी सूचनाओं का पावरहाउस है।

ऊर्जा दक्षता ब्यूरो (बीईई) तथा जीटीज़ेड ने ऊर्जा प्रबंधकों और ऊर्जा लेखापरीक्षकों के लिए इस पोर्टल का क्रियान्वयन किया है, ताकि ऊर्जा संरक्षण अधिनियम में निहित विनियमों का परिचालन सुकर बनाया जा सके। इस पोर्टल का उद्देश्य जोखिमधारकों के बीच विचार-विमर्श सुकर बनाना, जनता की राय प्राप्त करना और ऊर्जा संरक्षण अधिनियम के प्रावधानों के कार्यान्वयन में मदद करना है। 

अधिक जानकारी के लिए निम्नलिखित पृष्ठ देखें।