तकनीकी परामर्श संगठन

तकनीकी परामर्श संगठन औद्योगिक परियोजनाओं के लिए तकनीकी परामर्श सुगम बनाने के लिए गठित किए गए थे। ये संगठन अखिल भारतीय वित्तीय संस्थाओं (आईडीबीआई, आईसीआईसीआई, आईएफसीआई आदि ) द्वारा राज्य स्तरीय वित्तीय/विकास संगठनों तथा वाणिज्यिक बैंकों के सहयोग से स्थापित किए गए थे। देश भर में कुल 18 राज्य-स्तरीय तकनीकी परामर्श संगठन हैं।

तकनीकी परामर्श संगठन परामर्शदाता फर्म की तरह कार्य करते हुए परियोजना रिपोर्टें, बाजार सर्वेक्षण आदि हैंडल करते थे। समय के साथ-साथ वे अब बहु-कार्यात्मक, बहु-विषयक संगठन बन गए हैं जो औद्योगिक और ढाँचागत क्षेत्र को तमाम तरह की सेवाएँ प्रदान करते हैं। कुछ तकनीकी परामर्श संगठनों जैसे किटको ने "कमीशनिंग की संकल्पना" से विविधीकरण किया है औऱ परियोजना के कार्यान्वयन के लिए एक ही छत के नीचे परामर्श सेवाएं प्रदान करते हैं।

 

तकनीकी परामर्श संगठनों की कुछ गतिविधियों का समाहार निम्नवत किया जा सकता है:

  • उद्योग समूहों का विकास
  • उद्योग संभाव्यता सर्वेक्षण/तकनीकी आर्थिक व्यवहार्यता अध्ययन आयोजित करना
  • मूलभूत ढाँचा संबंधी आयोजना
  • ऊर्जा और पर्यावरण अनुसंधान और प्रबंध
  • एनपीए समाधान
  • व्यावसायिक प्रशिक्षण
  • प्रौद्योगिकी को सुगम बनाना / परियोजना रूपरेखा तैयार करना
  • उद्यमिता विकास कार्यक्रम संचालित करना
  • विशिष्ट उत्पादों हेतु बाजार अऩुसंधान करना
  • मर्चेंट बैंकिंग सेवाएं उपलब्ध कराना
  • निर्यातोन्मुख उद्यमों को परामर्श देना

भारत के प्रमुख तकनीकी परामर्श संगठनों की वेबसाइट में प्रवेश करने के लिए नीचे दिए गए लिंकों पर क्लिक करें :