सुविधा लेआउट की डिजाइनिंग

 

किसी व्यवसाय के समग्र संचालन , उसकी उत्पादन प्रक्रियाओं की अधिकतम प्रभावशीलता और कर्मचारियों की जरूरतों और/या आशाओं दोनों के संदर्भ में सुविधा का खाका (लेआउट) और डिजाइन एक महत्वपूर्ण घटक है. छोटे व्यापार मालिकों को अधिकतम लेआउट प्रभावशीलता के लिए किसी सुविधा को तैयार करवाते समय या उसकी मरम्मत के वक्त कई संचालन कारकों पर विचार करने की जरूरत है. इन मानदंडों में निम्नलिखित शामिल हैं:
 

भविष्य में विस्तार या परिवर्तन में आसानी : सुविधाऑ को इस तरह डिजाइन किया जाना चाहिए कि उन्हें उत्पादन की बदलती हुई जरूरतों को पूरा करने के लिए आसानी से विस्तारित या समायोजित किया जा सके.


प्रक्रिया का प्रवाह: किसी सुविधा की डिजाइन में सरल प्रक्रिया प्रवाह के महत्व और मान्यता को प्रतिबिंबित होना चाहिए. कारखाने की सुविधाओं के मामले में,  “लघु व्यवसाय को कैसे चलाएं” के संपादक कहते हैं कि "एक आदर्श  योजना में कच्चे माल को आपके संयंत्र में एक छोर से प्रवेश करते हुए और अंतिम छोर पर तैयार उत्पाद को बाहर आते हुए दिखाया जाता है. किंतु इस प्रवाह को एकदम सीधे होने की जरूरत नहीं है. यह समानांतर, यू-आकार पैटर्न  या यहाँ तक कि जिग-जैग भी हो सकता है जिसमें वह तैयार उत्पाद के साथ शिपिंग पर या प्राप्ति खण्ड में समाप्त हो सकता है. हालांकि, जो भी पैटर्न चुना जाए उसमें आगे जाकर पीछे आने (बैकट्रॆकिंग) से बचना चाहिए. जब कलपुर्जे और सामग्रियां, समग्र प्रवाह की चाल के विपरीत या आर-पार गति करते हैं तो , कर्मियों और कागजी कार्रवाई में भ्रम पैदा हो जाते हैं, पुर्जे खो जाते हैं  और समन्वय करना जटिल हो जाता है ".


सामग्री की साज-संभाल (हैंडलिंग): छोटे व्यापार मालिकों यह सुनिश्चित करना चाहिए कि कि उनके सुविधा लेआउट में सामग्री (उत्पाद, उपकरण, कंटेनर, आदि) की साज-संभाल कुशल व सक्षम और विशेषकर, सरल तरीके से संभव हो.


उत्पादन की जरूरतें: सुविधा को इस तरह बनाया जाना चाहिए कि वह आपके व्यापार की उत्पादन की जरूरत को पूरा करने में मदद के लिए अनुकूल हो.


स्थान का उपयोग: सुविधा डिजाइन के इस पहलू में इस बात का ध्यान रखा जाता है कि, आवाजाही के लिए गलियारे काफी विस्तृत हों और माल के भंडारण गोदामों या कमरों में जहां तक संभव हो ऊर्ध्वाधर रूप में स्थान का समुचित उपयोग सुनिश्चित किया जाए.


संचार और सहयोग में आसानी: सुविधाएं ऐसी होनी चाहिए जिसमें व्यापार के विभिन्न क्षेत्रों के बीच संचार आसान हो तथा विक्रेताओं और ग्राहकों के साथ बातचीत सरल व प्रभावी तरीके से की जा सके.

 

कर्मचारी मनोबल और कार्य से संतुष्टि पर प्रभाव: ऐसे कुछ तरीके हैं जिसमें लेआउट डिजाइन मनोबल में वृद्धि कर सकते हैं, जैसे, दीवारों पर हल्के रंग, खिड़कियां, खुले स्थान प्रदान करना तथा डिजाइन में एक कैफेटेरिया को शामिल किया जाना आदि.


व्यावसायिक (प्रोमोशनल) मूल्य: यदि व्यापार में आमतौर पर ग्राहकों, विक्रेताओं, निवेशकों, आदि के रूप में आगंतुक आते हैं,  तो छोटे व्यवसाय के मालिक सुनिश्चित करना चाहेंगे कि उनका सुविधा लेआउट काफी आकर्षक हो, जो कंपनी की प्रतिष्ठा को और बढ़ाए.


सुरक्षा: सुविधा लेआउट व्यापार को व्यावसायिक सुरक्षा दिशा निर्देशों के अनुसार प्रभावी ढंग से संचालित करने में सक्षम होना चाहिए.
 

सन्दर्भ:
• लघु व्यवसाय के विश्वकोश (एंसाक्लोपीडिया ऑफ स्मॉल बिजनेसेज), enotes.com