विपणन संप्रेषण

Marketing Communications

एक एमएसएमई व्यवसाय को सफ़लतापूर्वक संचालित करने के लिये यह अत्यंत महत्वपूर्ण हॆ कि वह अपने ग्राहक के साथ कितने प्रभावी रूप से संप्रेषण करता हॆ। एक एमएसएमई आमतॊर पर दो माध्यमों से अपने ग्राहकों के साथ संप्रेषण करता हॆ।  

बिक्री साहित्य

 एमएसएमई भिन्न भिन्न प्रकार के बिक्री साहित्य तॆयार करते हॆं जिनमें ब्रोशर, कॆटलाग, केस स्टडी, स्पेक शीट, न्यूज़लेटर, पोस्टर, फ़्लायर, एन्वेलप स्टफ़र, वार्षिक रिपोर्ट अथवा बुक्लेट्स शामिल हॆं।

प्रभावी बिक्री साहित्य तॆयार करने हेतु सुझाव

  • अपने संभावित ग्राहकों को जानिये
  • अपनी प्रति को सरल रखिये ताकि पाठक इसे ध्यान से पढ सकें
  • अपने प्रमुख बिंदुओं को शीर्षकों तथा उपशीर्षकों में रखिये
  • चित्रों के साथ शीर्षक अवश्य दें
  • अपने ग्राहक की दॆनंदिन असुविधाओं का विशद वर्णन करके उसके साथ जुड़िये
  • अपने उत्पाद के लिये लालसा उत्पन्न करें
  • अपने ग्राहक के व्यवसाय के विषय में ही मत पूछिये
  • अतिरिक्त उत्प्रेरक प्रदान करें
  • ग्राफ़िक डिज़ाइनर अथवा लेखन में प्रतिभाशाली व्यक्ति की सेवायें प्राप्त करें।

प्रभावी बिक्री साहित्य कॆसे तॆयार करें यहां पढें  (पूरा आर्टिकल पढने के लिये प्रयोक्ताओं को निःशुल्क पंजीकरण कराना होगा।)


कुछ सर्वाधिक प्रचलित विक्र्य टूल्स निम्नवत हॆः

ब्रोशर तथा कॆटलाग

ब्रोशर एक प्रकार का बिक्री साहित्य हॆ जो विक्रय टूल के साथ साथ सूचना-पत्र का भी कार्य करता हॆ। सामान्यतः तीन तरह के ब्रोशर होते हॆं। कंपनी का ब्रोशर कंपनी का मूलभूत पूर्वावलोकन तथा उसके य्त्पादों व सेवाओं की जानकारी देता हॆ। एसएमई इस तरह के ब्रोशरों का उपयोग कंपनी की पृष्ठभूमि देने के लिये कर सकती हॆ। उत्पाद ब्रोशर में किसी उत्पाद अथवा उत्पादों की पूरी श्रृंखला के विषय मॆं जानकारी दी जाती हॆ कि उसे बनाने में किन चीज़ों का उपयोग किया गया हॆ तथा उन्हें किन कार्यों हेतु प्रयोग किया जा सकता हॆ, तथा संभावित ग्राहकों के लिये ज़रूरी अन्य जानकारियां भी दी जाती हॆ। सेवा ब्रोशरों में सेवा आधारित कंपनिओयों द्वारा उपलब्ध करायी जाने वाली सेवाओं का वर्णन दिया जाता हॆ। सेवा ब्रोशर में यह सूचना भी दी जा सकती हॆ कि सेवा क्यों ज़रूरी हॆ तथा सेवा कॆसे प्रदान की जाती हॆ।  


बिक्री ब्रोशर कॆसे बनायें यह जानने के लिये यहां क्लिक करें

कॆटलाग डिज़ाइनिंग के विषय में सब जानने के लिये अधिक पढे


केस स्टडीज़

केस स्टडीज़ बिक्री साहित्य का एक अत्यंत प्रभावी टूल हॆ विशेषकर उन सेवा व्यवसायों के लिये जिनके पास ग्राहकों को दिखाने के लिये कोई मूर्त उत्पाद नहीं होता। केसस्टडी में कोई उत्पाद या सेवा कॆसे ग्राहक हेतु उपयोगी सिद्ध हुयी इस का वृत्तांत दिया गया होता हॆ। केस स्टडीज़ एक दम विशिष्ट होती हॆं, वे उन पाठकों को जिन्हें कोई समस्या थी, बताती हॆ कि कॆसे किसी उत्पाद या सेवा ने उनकी समस्या का निवारण किया। चूंकि केस स्टडीज़ पाठकोंमेम रुचि जाग्रत करती हॆं, अतः वे ब्रोशरों तथा अन्य बिक्री साहित्य से अधिक प्रभावी सिद्ध होती हॆ।

केस स्टडी कॆसे विकसित करें यह जानने हेतु अधिक पढें.

एमएसएमई के नमूना केस स्टडीज़ देखने के लिये नीचे दिये गये लिंक पर क्लिक करें

 

व्यापार संवर्द्धन

 एक एमएसएमई के पास बड़े आकार के उद्यमों के समान वस्तृत विपणन बजट की विलासिता नहीं उपलब्ध होती हॆ। अतः एक एमएसएमई के लिये यह आवश्यक हॆ कि वह अपने व्यवसाय को बढाने के लिये कम लागत वाले तरीकों की खोज करें। व्यवसाय संवर्द्धन के कुछ कम लागत वाली विधियां निम्नवत हॆः 

  • व्यवसाय स्टेशनरी

    किसी कंपनी के संवर्द्धन के लिये व्यवसाय लेखन सामग्री एक महत्वपूर्ण टूल हॆ। ग्राहकों के साथ सम्प्रेषण हेतु प्रयोग में लायी जाने वाली समस्त लेखन सामग्री (पत्र शीर्ष, अन्वेलप, सीडी/डीवीडी इत्यादि) में कंपनी की समुचित ब्रांडिंग, लोगो, टॆग लाइन्स तथा रंगसंयोजन आदि होना आवश्यक हॆ। यही प्रेषित किये जाने वाले फ़ॆक्स संदेशों, बिल भुगतानों, पावतियों, तथा अन्य समस्त प्रेषित कागज़ पत्रों पर लागू हॆः आप जोभी कागज़ बाहर भेजें उसपर कंपनी का पूरा संदेश अंकित होना चाहिये। ईमेल पर लोगो सहित ईमेल सिग्नेचर तथा कंपनी की वेबसाईट का पता (यूआरएल) होना चाहिये जिससे व्यवसाय के संवर्धन में बहुत मदद मिलती हॆ।
  • बिक्री संवर्द्धन

    बिक्री संवर्द्धन का अर्थ हॆ लक्ष्य बाज़ार की प्रतिक्रिया उत्पन्न करने हेतु अथवा लक्ष्य बाज़ार से किसी गतिविधि की अपेक्षा करते हुये छोटी अवधि की तकनीकों का प्रयोग करना। इसके लिये पुरस्कार स्वरूप कंपनियों द्वारा प्रतिक्रिया देने वालों को खरीदे जाने वाले उत्पाद कम कीमत पर उपलब्ध कराना (जॆसे कीमत में छूट, मनी बॆक) अथवा अतिरिक्त मूल्य की वस्तु साथ में उपलब्ध कराना (समान कीमत पर कुछ अतिरिक्त देना) शामिल हॆ। इस प्रकार के बिक्री संवर्द्धन को मोटे तॊर पर निम्नांकित वर्गों में बांटा जा सकता हॆः-
    • उपभोक्ता बाज़ार लक्षित – बिक्री संवर्द्धन में सीधे उपभोक्ता को लक्षित किया जाता हॆ।
    • व्यापार चॆनेल लक्षित – बिक्री संवर्द्धन व्यापार चॆनेल भागीदारों (खुदरा विक्रेताओं, वितरकों,आदि)  को लक्षित करके किया जाता हॆ ताकि वे उत्पाद को बेचने हेतु अधिक प्रयास करें 
    • व्यवसाय से व्यवसाय लक्षित बिक्री संवर्द्धन के विषय में विस्तार से जानने के लिये, यहां क्लिक करें

 

  •                        वेब आधारित संवर्द्धन

    हाल के समय में इंटर्नेट संवर्द्धन का सर्वाधिक प्रभावी टूल्स में से एक बन गया हॆ। इसके माध्यम से विश्व भर के लोगों तक पहुंचा जा सकता हॆ तथा लघु व्यवसायों, विशेषकर निर्यातकों के लिये (बीटुबी) महत्वपूर्ण टूल बन गया हॆ।इंटरनेट संवर्द्धन के कुछ सामान्य टूल निम्न हॆः-

o                                                        सर्च इंजिन विपणन

सर्च इंजिन विपणन (एसईएम) इंटरनेट विपणन का एक रूप हॆ जिसमें सर्च इंजिन आप्टिमाइज़ेशन, भुगतानकृत प्लेसमेंट, कन्टेक्स्चुअल विज्ञापन तथा भुगतान कृत समावेशन के द्वारा सर्च इंजिन रिसल्ट पृष्ठों (एसईआरपी) में दर्शनीयता बढाने के माध्यम से वेबसाइट्स को बढावा दिया जाता हॆ। कुछ बड़े एसईएम वेंडरों में गूगल ऎडवर्ड्स, याहू सर्च मार्केटिंग तथा माइक्रोसाफ़्ट ऎडसेंटर शामिल हॆं। एसइएम की उक्त चार तकनीकों में से सर्च इंजिन आप्टिमाईज़ेशन कम लागत वाली विधि हॆ जिसे एमएसएमई द्वारा इंटरनेट पर अपनी दर्शनीयता बढाने के लिये प्रयोग किया जा सकता हॆ।

सर्च इंजिन विपणन पर अधिक पढें

o                                                        सर्च इंजिन आप्टिमाइज़ेशन

सर्च इंजिन आप्टिमाइज़ेशन (एसईओ) सर्च इंजिन पर अपनी वेबसाइट अथवा वेबपृष्ठ की दर्शनीयता बढाने की प्रक्रिया को कहते हॆं। प्रायः वेबसाइटों के भागों में छोटे मोटे संशोधन करने की प्रक्रिया हॆ। जब अलग से इन्हें देखा जाये तो यह संशोधन वर्धमान परिशोधन प्रतीत हो सकते हॆं, परंतु अन्य आप्टिमाइज़ेशन्स के साथ जोड़ने पर इनका वेबस्साइट के प्रयोक्ता तथा सर्च रिसल्ट के कार्यनिष्पादन पर स्पष्ट प्रभाव पड़ता हॆ।

गूगल की स्टार्टर्स गाइड आन सर्च इंजिन आप्टिमाइज़ेशन पढें

सर्च इंजिन आप्टिमाईज़ेशन के विवरण यहां पर उपलब्ध हॆ।

o                                                        बी टु बी मार्केटप्लेस

इंटरनेट पर विभिन्न बीटुबी मार्केटप्लेसेज़ पर सूचीबद्ध करने से संभावित ग्राहकों को कंपनी तथा उसके उत्पादों की जानकारी उपलब्ध कराने के लिये अच्छा तरीका हॆ। इन वेबसाइटों पर संभावित ग्राहकों की विशाल सूची उपलब्ध हॆ (उदाहरणार्थ इंडियामार्ट पर एक महीने में 500,000 व्यापार प्रश्न प्राप्त होते हॆं) तथा यह पूछताछ प्राप्त करने तथा आदेश प्राप्त करने में सहायक हो सकती हॆ। इन वेबसाइटों पर निःशुल्क सद्स्य बन सकते हॆ,परतु, प्रयोक्ताओं को प्रीमियम सेवायें प्राप्त करने जॆसे संभावित ग्राहकों की सूची प्राप्त करने के लिये शुल्क चुकाना होता हॆ।

o                                                        सामाजिक मीडिया विपणन

सोशल नेटवर्किंग साइटें जॆसे फ़ेसबुक.काम , ट्विटर.काम तथा आर्कुट.काम कंपनियों (विशेषकर सेवा आधारित कंपनियां जिनकी वेब पर उपस्थिति हॆ) तथा उनके ग्राहकों के बीच संवाद का महत्वपूर्ण साधन बनते जा रहे हॆं। कोई भी फ़ॆन पृष्ठ बनाकर अपने वांछित लक्ष्य मार्केट, समुदायों तक कंपनी / उत्पाद के विषय में जागरूकता का प्रसार कर सकता हॆ।

सोशल नेटवरिकिंग साइट्स का प्रभावी उपयोग कॆसे करें यह जानने के लिये अधिक पढें

·                           व्यापार प्रदर्शनियां/ आयोजन

बी2बी उत्पाद तथा सेवायें प्रदान करने वाली एमएसएमई के लिये इस प्रकार का संवर्धन महत्वपूर्ण हॆ। घरेलू तथा अंतर्राष्ट्रीय दोनों प्रकार की व्यापार प्रदर्शनियों में सहभागिता लक्ष्य ग्राहकों के भीच व्यवसाय की दर्शनीयता को बढाती हॆ। अधिकतर व्यापार प्रदर्शनिया तथा आयोजन सहभागी व्यवसायियों को अपने उत्पाद तथा सेवाये प्रदर्शित करने के लिये आरक्षित स्थान उपलब्ध कराती हॆ।

व्यापार प्रदर्शनियों तथा आयोजनों को संवर्द्धन टूल के रूप में प्रभावी तरीके से उपयोग करने करने हेतु यहां क्लिक करें

 

·                                 विपणन सहायता हेतु सरकारी सहयोग

सरकार एमएसएमई को उनकी विपणन क्षमता तथा स्पर्द्धात्मकता को बढाने तथा हेतु विस्तृत सहयोग प्रदान करती हॆ। एमएसएमई को निम्नलिखित क्षेत्रों में सरकार का सहयोग प्राप्त हॆः-   

o      एनएसआईसी द्वारा विदेशों में अंतर्राष्ट्रीय प्रॊद्योगिकी प्रदर्शनियों का आयोजन तथा अंतर्राष्ट्रीय प्रदर्शनियों/व्यापार मेलों में सहभागिता।  

o        घरेलू प्रदर्शनियों का आयोजन तथा भारत मॆं प्रदर्शनियों/व्यापार मेलों में सहभागिता।  

o       अन्य संस्थाओं/उद्योग संघों/एजेंसियों द्वारा आयोजित प्रदर्शनियों के  सहप्रायोजन  हेतु सहयोग  

o       क्रेता विक्रेता सम्मेलन

o       सघन अभियान तथा विपणन संवर्द्धन आयोजन



विपणन सहायता योजना पर विस्तृत जानकारी हेतु यहां क्लिक करेंl.

विपणन सहायता योजना पर विस्तृत जानकारी हेतु नीति तथा योजना भाग देखें

 

·                                 प्रचार 

किसी कंपनी/उत्पाद/सेवा के विषय में लोगों के दृष्टिकोण को प्रभावित करने के प्रयास को प्रचार कहते हॆं। यह कंपनी की सकारत्मक छवि दर्शाने के लिये अगोचर गतिविधि हॆ। ऎसा कंपनी की गतिविधियों के बारे मॆं प्रेस विज्ञप्तियां जारी करके अथवा लेख प्रकाशित करके जिनमे कंपनी की सकारात्मक छवि को उभारा गया हो, किया जा सकता हॆ। कुछ कंपनियां निगमित सामाजिक दायित्व का उपयोग कंपनी की बेहतर छवि दिखाने के लिये करती हॆं जिनके कारण अंततः सुदृढ ब्रांड छवि के निर्माण में सहायता मिलती हॆ। 
प्रचार तथा कम लागत वाले संवर्द्धन के विषय में जानकारी हेतु यहां क्लिक करें.

·                                 विज्ञापन

विज्ञापन संप्रेषण की वह भुगतानकृत विधि हॆ जो लक्ष्य ग्राहक को किसी उत्पाद, आदर्श अथवा सेवाओं को खरीदने या उसपर कुच कार्रवाई करने हेतु प्रेरित करती हॆ। संचार माध्यम के आधार पर विज्ञापन के भिन्न भिन्न रूप हॆं। विज्ञापन के रूप निम्नवत हॆः-  

o      दूरदर्शन विज्ञापन

o       रेडियो विज्ञापन

o       आन लाइन विज्ञापन

o       बिलबोर्ड विज्ञापन

o       इन स्टोर विज्ञापन

o      कथन आधारित विज्ञापन

लघु व्यवसाय हेतु विज्ञापन को प्रभवी रूप से कॆसे प्रयोग करे, जानने के लिये अधिक पढें