भौतिक आस्तियाँ

Physical Assets

पूँजीगत माल प्रबन्धन

 

 

सभी आस्तियों का प्रबन्धन आवश्यक होता है। ये आस्तियाँ आय प्राप्त करने की साधन होती हैं, कई मामलों में ये निवेश पर प्राप्तियों के रूप में प्राप्त होती है। यह सभी पर लागू होता है, चाहे आस्तियों (चालू आस्तियाँ) की प्रकृति अल्पावधि की हो या आस्तियाँ ( अचल आस्तियाँ) दीर्घावधि प्रकृति की हों।

भौतिक आस्तियों और पूँजीगत आस्तियों के प्रबन्धन के लिए आवश्यक हैः संयंत्र और मशीनरी, सुरक्षा और बीमा का प्रबन्धन।

 

 

आप इनके बारे में नीचे दिए गए अनुभागों में पढ सकते हैं। बीमा के बारे में यहाँ पढें।