उत्पाद शुल्क

उत्पाद शुल्क क्या है? इसकी वसूली राज्य सरकार करती है या केंद्र सरकार। यह बिक्रीकर से किस प्रकार भिन्न है?

उत्पाद शुल्क सामानों के उत्पादन या विनिर्माण पर लगने वाला कर है। अल्कोहल, अल्कोहलिक सामग्री और मादक पदार्थों पर उत्पाद शुल्क की वसूली राज्य सरकार करती है और उसे राज्य उत्पाद शुल्क कहा जाता है। अन्य सामानों पर लगने वाला उत्पाद शुल्क केंद्रीय उत्पाद शुल्क कहा जाता है और उसकी वसूली केंद्रीय उत्पाद शुल्क अधिनियम, 1944 की धारा 3 के अनुसार की जाती है। बिक्रीकर उत्पाद शुल्क से इस रूप में भिन्न है, कि बिक्रीकर किसी सामान की बिक्री किए जाने पर लगता है, जबकि उत्पाद शुल्क सामानों के विनिर्माण या उत्पादन करने पर लगाया जाता है।   

किन श्रेणियों के व्यक्तियों को केंद्रीय उत्पाद शुल्क विभाग से पंजीकरण प्राप्त करना अपेक्षित है?

विनिर्दिष्ट शर्तों के अधीन रहते हुए, सामान्यत: निम्नलिखित श्रेणियों के व्यक्तियों को केंद्रीय उत्पाद शुल्क विभाग के पास पंजीकरण कराना अपेक्षित होता है:

(i) कर-योग्य एवं उत्पाद शुल्क-योग्य सामानों का विनिर्माण करने वाला प्रत्येक विनिर्माता;

(ii) सेनवैट-योग्य बीजक जारी करने के इच्छुक प्रथम एवं द्वितीय चरण के विक्रेता या आयातक;

(iii) शुल्क अदा न किए गए सामानों के भंडारण के लिए बंधक गोदाम धारण करने वाले व्यक्ति;

(iv) वे व्यक्ति, जो अंतिम उपयोग के आधार पर छूट का लाभ उठाने के लिए उत्पाद शुल्क-योग्य सामान प्राप्त करते हैं। 

क्या व्यक्तियों की कोई ऐसी श्रेणी है, जिन्हें पंजीकरण प्राप्त करने से छूट मिली हुई हो?

हाँ, विनिर्दिष्ट शर्तों के अधीन रहते हुए, निम्नलिखित श्रेणियों के व्यक्तियों को केंद्रीय उत्पाद शुल्क संबंधी पंजीकरण कराने की आवश्यकता नहीं है।

(i) उन सामानों के विनिर्माता, जिन पर कर की दर शून्य है या जो पूर्णत: शुल्क-मुक्त हैं;

(ii) 90 लाख रुपये से कम वार्षिक कुल बिक्री वाले लघु उद्योग विनिर्माता। जब उनकी कुल बिक्री 90 लाख रुपये तक पहुँच जाती है, तो उन्हें केंद्रीय उत्पाद शुल्क के संबंधित क्षेत्राधिकार अधीक्षक को निर्धारित घोषणा देनी चाहिए;

(iii) सिलेसिलाए परिधानों के फुटकर कारीगर, यदि मूल विनिर्माता शुल्क संबंधी दायित्वों की पूर्ति करते का वचन देता है;

(iv) निर्यात प्रसंस्करण क्षेत्रों एवं विशेष आर्थिक क्षेत्रों में स्थित अनुमोदित /लाइसेन्सधारी इकाइयाँ और 100% निर्यातोन्मुख इकाइयाँ।

 पंजीकरण प्राप्त करने की प्रक्रिया क्या है?

आयकर विभाग से जारी स्थायी खाता संख्या (पैन) की स्वप्रमाणित प्रति के साथ निकटतम उत्पाद शुल्क प्रभाग के कार्यालय में फ़ार्म ए.1 में आवेदन करें। सत्यापन के बाद, सामान्यत: फ़ार्म आरसी में नियमित पंजीकरण प्रमाणपत्र यथासंभव तत्काल जारी कर दिया जाता है।  

वे कौन सी वस्तुएँ हैं, जिन पर केंद्रीय उत्पाद शुल्क लगाया जाता है?

केंद्रीय उत्पाद प्रशुल्क अधिनियम, 1985 में सूचीबद्ध सभी सामानों पर केंद्रीय उत्पाद शुल्क लगता है, जब तक कि अधिनियम में या केंद्रीय उत्पाद शुल्क अधिनियम, 1944 के अधीन उपयुक्त सांविधिक प्राधिकारी द्वारा जारी किसी अधिसूचना में अन्यथा विनिर्दिष्ट न हो। 

वे कौन व्यक्ति हैं, जिन्हें केंद्रीय उत्पाद शुल्क अदा करना होता है?

सामान्य रूप से कहा जाए, तो विनिर्माण कार्य करने वाले विनिर्माताओं को केंद्रीय उत्पाद शुल्क अदा करना होता है। कोई व्यक्ति विनिर्माताओं को केवल कच्चा माल आपूर्त करने से या अपनी विशिष्ट अपेक्षाओं, ब्रांड नाम या व्यापार नाम, आदि के अनुसार अपने सामानों का विनिर्माण करवाने से विनिर्माता नहीं बन जाता है। तथापि, वस्त्र उद्योग क्षेत्र के लिए, शुल्क अदा करने का विकल्प कच्चे माल के आपूर्तिकर्ता या फुटकर कारीगर के पास होता है।

 

 

उत्पाद शुल्क के बारे में अधिक जानकारी के लिए कृपया यहाँ क्लिक करें

उत्पाद शुल्क संबंधी विभिन्न फ़ार्मों के बारे में अधिक जानने के लिए कृपया यहाँ क्लिक करें