प्रधान विनियम

किसी उद्यमी को अपने व्यवसाय की लाभप्रदता तथा उत्पादकता को बनाये रखने के लिये देश की मूलभूत नियंत्रक अपेक्षाओं को ध्यान में रखना आवश्यक हॆ। सर्वाधिक महत्वपूर्ण विनियम पर्यावरण से संबंधित हॆ। पर्यावरण विनियामक अपेक्षाओं में पर्यावरण की रक्षा से संबंधित समस्त पक्षों पर विस्तृत विधायी ढांचा शामिल हॆ। मोटे तॊर पर, इसमे वायु, ध्वनि तथा जल प्रदूषण इत्यादि हेतु उत्सर्जन के मानक निर्धारित किये गये हॆं। हानिकारक अपशिष्ट के उत्सर्जन हेतु भी अलग कानून लागू किये गये हॆ। प्रत्येक उद्योग को पर्यावरण की रक्षा हेतु इन दिशानिदेशों तथा मानदंडों को पूरा करना होता हॆ।

किसी भी संस्था को सुचारु तथा प्रभावी रूप से कार्य करने हेतु अपने कर्मचारियों के स्वास्थ्य तथा सुरक्षा को सुनिश्चित करना होता हॆ। भारत में उपजीविकाजन्य स्वास्थ्य एवं सुरक्षा से संबंधित मुख्य कानून हॆः फ़ॆक्टरीज़ अधिनियम 1948; माइन्स अधिनियम, 1952 तथा गोदी कर्मचारी (सुरक्षा, स्वास्थ्य एवं कल्याण) अधिनियम 1986. माइन्स सेफ़्टी महानिदेशक (डीजीएमएस) तथा फ़ॆक्ट्री परामर्श सेवा एवं श्रम संस्थान महानिदेशक (डीजीएफ़एएसएलआई)  खदानो, फ़ॆक्टरियों तथा बंदरगाहों में उपजीविकाजन्य सुरक्षा तथा स्वास्थ्य के क्षेत्र में कार्य करने वाले संगठन हॆ।

यही नहीं, भारत सरकार ने बाज़ार आधारित अर्थव्यवस्था में स्वस्थ एवं उचित स्पर्द्धा सुनिश्चित करने हेतु विभिन्न कदम उथाये हॆं जिनमें स्पर्द्धा नीति घोषित करना, स्पर्द्धा अधिनियम 2002 लागू करना तथा भारतीय स्पर्द्धा आयोग का गठन शामिल हॆं। इनक उद्देश्य यह हे कि स्पर्द्धा विरोधी व्यवसाय प्रॆक्टिसेज़ को रोका जा सके, किसी एक उद्यम को प्रभाव का दुरुपयोग करने से रोका जा सके तथा विभिन्न व्यवसाय संयोजनों जॆसे विलय एवं अभिग्रहण (मर्जर एंड एक्विज़िशन्स) को विनियमित किया जा सके।   

माल तथा सेवाओं के आयात तथा निर्यात के विनियमन हेतु उद्यमी को विदेशी व्यापार (विकास एवं विनियमन) अधिनियम 1992 तथा सरकार द्वारा समय समय पर घोषित आयात निर्यात नीति का पालन करना होता हॆ। भारत में विदेशी व्यापार के संवर्द्धन एवं विनियमन हेतु वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय सर्वाधिक महत्वपूर्ण अंग हॆ। उक्त मंत्रालय में व्यापार के विभिन्न पक्षों की देखरेख हेतु एक विस्तृत संगठनात्मक ढांचा हॆ। उक्त मंत्रालय के अधीन वाणिज्य विभाग विदेश व्यापार नीतिके निर्धारण तथा क्रियान्वयन हेतु उत्तरदायी हॆ।

 अधिक विवरण हेतु कृपया  यहां क्लिक करें